आखिर क्या है माजरा, पाकिस्तान में दिखाया गया लालकिला

red fort

पाकिस्तान हमेशा भारत पर टेढी नजर बनाए रखता है। भारत की सभी चीजों पर तो पाकिस्तान नजर रखता है, लेकिन अब तो लाल किले पर भी इसकी नजर पड़नी शुरु हो गई है। दरअसल, चीन के प्रभुत्व वाले शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) में भारत और पाकिस्तान के शामिल होने को लेकर बीजिंग में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें दोनों देशों की झांकियां सजाई गईं। इस दौरान आयोजकों ने पाकिस्तान की झांकी में लालकिला और उस पर लहराता तिरंगे को दर्शाया, जिसके चलते बवाल मच गया।

एक रिपोर्ट के पाकिस्तानी झांकी में लालकिला को लाहौर के शालीमार गार्डेन के रूप में दिखाया गया. इस कार्यक्रम में चीन के विदेश मंत्री वांग यी, चीन में भारतीय राजनयिक विजय गोखले के साथ ही पाकिस्तान के राजदूत मसूद खालिद समेत SCO के अन्य सदस्य शामिल रहे. दिलचस्प बात यह है कि भारतीय राजदूत और पाकिस्तानी राजदूत दोनों ने ही आयोजकों को उनकी गलती से अवगत कराया।

इसके बाद sco के अधिकारियों ने इस गलती पर अफसोस जताया। उन्होंने कहा कि वे झांकियों में इस्तेमाल तस्वीरों की जांच नहीं की थी। बीजिंग में आयोजित यह पहला ऐसा आयोजन है, जिसमें भारत और पाकिस्तान एक साथ शिरकत कर रहे हैं। अब बृहस्पतिवार को SCO के मुख्यालय पर भारतीय तिरंगे और पाकिस्तानी झंडे को लहराया जाएगा। इस दौरान भारतीय राजदूत गोखले और पाकिस्तानी राजदूत खालिद ड्रम बजाएंगे। मालूम हो कि कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में आयोजित समिट में भारत और पाकिस्तान को sco का पूर्णकालिक सदस्य बनाया गया था। इससे पहले चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान ही इसके सदस्य देश थे।

277 total views, 2 views today