• Home »
  • New Delhi »
  • जपा राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र यादव और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने किया नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी सुनील यादव के कार्यालय का उद्घाटन

जपा राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र यादव और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने किया नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी सुनील यादव के कार्यालय का उद्घाटन

नई दिल्ली, 28 जनवरी।  भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री श्री भूपेन्द्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी की उपस्थिति में नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी श्री सुनील यादव के कार्यालय का उद्घाटन 14 महादेव रोड नई दिल्ली में किया। इस अवसर पर पार्टी प्रदेश, जिला व मंडल के कार्यकर्ता और क्षेत्रिय जनता मौजूद रही।

इस अवसर पर भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री श्री भूपेन्द्र यादव ने प्रत्याशी श्री सुनील यादव के समर्थन में  कहा कि यह चुनाव राष्ट्रवादी बनाम राष्ट्रविरोधी है और अरविंद केजरीवाल व कांग्रेस राष्ट्रविरोधी शक्तियों के साथ खड़ें है। इसे पूरी दिल्ली देख रही है। अरविंद केजरीवाल ने पिछले पांच साल में केवल झूठ बोलकर सरकार चलाई है। इसलिए आम आदमी पार्टी की सरकार इस बार युवा शक्ति के झोके में उड़ने वाली है। श्री यादव ने उपस्थित जनता से सुनील यादव को भारी मतों से जीताने के लिए अपील भी की है।

प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने इस दौरान दिल्ली की शिक्षा और चिकित्सा व्यवस्था का मुद्दा उठाया और कहा कि केजरीवाल सरकार शिक्षा, चिकित्सा और मूलभूत सुविधाएं देने में असमर्थ रही है। केजरीवाल और कांग्रेस की शह पर ही शाहीनबाग में लाखों लोगों को परेशान किया जा रहा है। आने वाले चुनाव में कांग्रेस और केजरीवाल दोनों को यह बात उन्हें भारी पड़ने वाली है। उन्होंने सुनील यादव को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील करते हुए कहा कि सुनील यादव स्थानीय व्यक्ति है, यहां की जमीन से जुड़े हैं और लोगों की समस्याओं को अच्छी तरह से समझते हैं। इसलिए उन्हें अपना अमूल्य मत देकर विजयी बनाएं।

कार्यक्रम में नई दिल्ली से प्रत्याशी श्री सुनील यादव ने कहा कि यह चुनाव गली बॉय बनाम सेलिब्रिटी है। केजरीवाल सेलिब्रिटी हैं। उन्हें नई दिल्ली की जनता की समस्याओं से कोई मतलब नहीं है। केजरीवाल हर स्तर पर फेल तो हैं ही, वो नई दिल्ली के लोगों की समस्याओं को भी समझने नहीं आते हैं। नई दिल्ली की जनता ने केजरीवाल को बड़ी उम्मीदों के साथ अपना नेता चुना था, लेकिन उन्होंने नई दिल्ली ही नहीं पूरी दिल्ली की जनता को निराश किया, लिहाजा अब उनके विदाई की बेला आ गई है।