• Home »
  • New Delhi »
  • HERO INDIAN OPEN 2020 संस्करण में दावेदारी पेश करेंगे मजबूत भारतीय और इंटरनेशनल स्टार गोल्फर

HERO INDIAN OPEN 2020 संस्करण में दावेदारी पेश करेंगे मजबूत भारतीय और इंटरनेशनल स्टार गोल्फर

नई दिल्ली, 20 फरवरी। अगले महीने होने वाले हीरो इंडियन ओपन के 56वें संस्करण में इस साल यूरोपीयन और एशियाई टूर चैम्पियनों सहित एक मजबूत भारतीय प्रतिनिधिमंडल समान रूप से सक्षम इंटरनेशनल स्टार कास्ट के साथ अपनी चुनौती पेश करेगा। भारत में सबसे लम्बे समय से आयोजित हो रहे टूर्नामेंट्स में से एक और इंडियन गोल्फ के इस फ्लैगशिप इवेंट का आयोजन इस साल 19 से 22 मार्च तक होगा और इसमें 17.5 लाख डालर की पुरस्कार राशि दांव पर लगी होगी।

दुनिया के सबसे बड़े मोटरसाइकिल निर्माता हीरो मोटोकार्प के लिए इस इवेंट को स्पांसर करने का यह लगातार 15वां साल है। हीरो मोटोकार्प साल 2005 में सबसे पहले इस इवेंट से टाइटिल स्पांसर के तौर पर जुड़ा था। साथ ही गोल्फ के साथ हीरो मोटोकार्प के जुड़ाव का यह 25वां साल है।

इस साल इस इवेंट में लगभग सभी शीर्ष भारतीय गोल्फर, जिसमें 2016 और 2017 के चैम्पियन एसएसपी चौरसिया, 2015 के चैम्पियन अनिर्बान लाहिरी औऱ तीन बार के चैम्पियन ज्योति रंधावा (2000, 2006 और 2007) हिस्सा लेते दिखेंगे। इसके अलावा शिव कपूरराशिद खान, राहिल गंगजी और शुभांकर शर्मा जैसे जाने-माने और खुद को साबित कर चुके भारतीय गोल्फर भी गुरुग्राम के सुंदर डीएलएफ गोल्फ एंड कंट्री क्लब के गैरी प्लेयर लेआउट में प्रतिस्पर्धा करते नजर आएंगे।

 इन सभी दिग्गजों को चुनौती देने के लिए इस साल भारत के सबसे बड़े गोल्फ इवेंट में उदयन माने (डोमेस्टिक टूर में बीते तीन आयोजनों का खिताब जीतने के बाद विश्व रैंकिंग में 241वें रैंकिंग तक पहुंचे), विराज मादप्पा, खालिन जोशी, एस, चिक्कारंगप्पा, अजीतेश संधू, अमन राज, क्षितिज नवीद कौल, करणदीप कोच्चर, वीर अहलावत, युवराज संधू जैसे युवा और उत्साह से भरपूर गोल्फर मौजूद होंगे।

हीरो इंडियन ओपन 2020 में इस साल पूर्व विश्व नम्बर-1 एमेच्योर अमेरिका के जस्टिन सुह, एक अनुभवी तथा मशहूर एमेच्योर और अमेरिका का प्रतिनिधित्व करने वाले भारतीय मूल के गोल्फर अक्षय भाटिया, डेनमार्क के निकोलाई होगार्ड औऱ इंग्लैंड के मैथ्यू जार्डन जैसे ताजातरीन और युवा तथा उत्साह से भरपूर प्रतिभाएं भी अपना फन दिखाने के लिए भारत पहुंचेंगी।

हीरो मोटोकार्प के कारपोरेट कम्यूनिकेशन प्रमुख भारतेंदु काबी ने कहा, “हीरो मोटोकार्प देश और दुनिया भर में गोल्फ के दीर्घकालीन प्रोमोशन के लिए प्रतिबद्ध है। हम हीरो इंडियन ओपन का बीते 15 साल के टाइटिल स्पांसर रहे हैं। हीरो इंडियन ओपन ने हमेशा से भारतीय प्रतिभाओं को विदेश की प्रतिभाओं के बीच अपना फन दिखाने का एक शानदार प्लेटफार्म मुहैया कराया है। इस साल प्रतिस्पर्धा में मौजूद मजबूत भारतीय खिलाड़ियों और प्रतिभाशाली विदेशी खिलाड़ियों के रहते हमें यकीन है कि हीरो इंडियन ओपन 2020 के दौरान उच्च स्तरीय गोल्फ देखने को मिलेगी।”

इंडियन गोल्फ यूनियन (आईजयू) के अध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डी. अन्बू ने कहा, “इवेंट के प्रोमोटर आईजीयू के अध्यक्ष के तौर पर दूसरी बार हीरो इंडियन ओपन में शरीक होते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है। कई बार देश के इस सबसे प्रतिष्ठित गोल्फ टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर हमें चुनौतियों का सामना करना पड़ा है, एसे में हमारे लिए इसके 2020 संस्करण का आयोजन गर्व का विषय है।”

अन्बू ने आगे कहा, “हीरो मोटोकार्प आईजीयू का सबसे मजबूत पार्टनर रहा है और हम इसके लिए डाक्टर पवन मुंजाल की दोस्ती और पार्टोनेज के लिए उनके शुक्रगुजार हैं। डीएलएफ और डीएंड सीसी में गोल्फरों की एक लिहाज से अग्नि परीक्षा होती है। यहां सभी गोल्फरों को स्ट्रेट हिटिंग, सही तरीके से अंदाजा लगाने और पटिंग करने में चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। एसे में इस साल का इंडियन ओपन चैम्पियन बनने के लिए गोल्फरों को अपना श्रेष्ठ देना होगा। इस टूर्नामेंट के आयोजन के लिए शांत लेकिन प्रभावशाली सहयोग के लिए मैं आईजीयू के अपने सहकर्मिंयों का भी शुक्रगुजार हूं। मुझे उम्मीद है कि यह ट्राफी इस साल घर में ही रहेगी। इसी उम्मीद के साथ मैं सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देता हूं।”

इस इवेंट को एशियन टूर के साथ को-सैंक्शन करने की दिशा में यूरोपीयन टूर ने एक पार्टनर की भूमिका निभाई है और इस साल 2018 रायडर कप जीतने वाली यूरोपीयन टीम के कप्तान थामस ब्जोर्न भी अपने तमाम साथियों के साथ गुरुग्राम मे होंगे। उनके साथियों में छह बार के यूरोपीयन टूर विजेता डच गोल्फर जूस्ट लुइटेन, तीन बार के यूरोपीयन टूर विजेता एंडी सुलीवान प्रमुख हैं। यूरोपीयन चैलेंज की अगुवाई मौजूदा चैम्पियन स्टीफन गालाचेर करेंगे, जिन्होंने बीते साल अपने बेटे जैक के साथ यहां खिताब जीता था।

यूरोपीयन टूर के डिप्यूटी चीफ आपरेटिंग आफिसर – इंटरनेशनल, बेन कोवेन ने कहा, “हम मार्च में डीएलएफ गोल्फ एंड कंट्री क्लब में एक बार फिर गोल्फरों के बीच जोरदार प्रतिस्पर्धा की उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि यह टूर्नामेंट गोल्फरों को छठे साल रेस टू दुबई के लिए दावेदारी पेश करने का मौका प्रदान करेगा।”

कोवेन ने आगे कहा, “हम लगातार सहयोग और समर्थन के लिए हमेशा की तरह हीरो मोटोकार्प का धन्यवाद करना चाहेंगे। खासतौर पर इसके चेयरमैन पवन मुंजाल का, जिनकी दूरदर्शिता औऱ प्रतिबद्धता के कारण हमें यूरोपीयन टूर में कई तरह के प्रोजेक्ट्स चलाने में मदद मिलती रही है। चाहें यह इवेंट हो या फिर लगातार लोकप्रिय हो रहा हीरो चैलेंज, मुंजाल की सोच से गोल्फ तेजी से फल-फूल रहा है। साथ ही हम भारत में इस खेल को लगातार प्रोमोट करने और लोकप्रिय बनाने को लेकर आईजीयू के प्रयासों की भी सराहना करते हैं और साथ ही साथ एक बार फिर हम एशियन टूर के अपने सहयोगियों के साथ एक बार फिर एक रोमांचक इवेंट में काम करने को लेकर उत्साहित हैं।”

डीएलएफ होम डेवलपर्स लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक आकाश ओहरी ने कहा, “हम लगातार चौथे साल हीरो इंडियन ओपन की मेजबान को लेकर प्रसन्न हैं। डीएलएफ गोल्फ एंड कंट्री क्लब के गैरी प्लेअर कोर्स, हीरो मोटोकार्प से सहयोग से कई पुरुष एवं महिला इंडियन ओपन्स की मेजबानी का स्थल रहा है। हम लगातार श्रेष्ठ प्लेइंग कंडीशन मुहैया कराने को लेकर प्रयासरत हैं और यह साल कुछ अलग नहीं है। इस चुनौतीपूर्ण कोर्स पर खिलाड़ियों को एक अच्छा प्लइंग कंडीशन मिलेगा और इस कोर्स को खिलाड़ियों की ओर से साल दर साल तारीफ मिलती रही है। हम सभी एक और साल हीरो इंडियन ओपन में रोमांचक मुकाबलों की उम्मीद कर रहे हैं।”

एशियन टूर के कमिश्नर एवं सीईओ चो मिन थांट ने कहा, “हीरो इंडियन ओपन की गिनती हमेशा से एशियन टूर के मेजर के रूप में होती रही है। इस एतिहासिक इवेंट में हमेशा से कद्दावर खिलाड़ियो ने हिस्सा लिया है और मैं इसकी साख में साल दर साल इजाफा करने के प्रयासों के लिए हीरो मोटोकार्प और इंडियन गोल्फ यूनियन की जितनी तारीफ करूं कम है।”

थांट ने आगे कहा, “हीरो इंडियन ओपन इसलिए भी खास है क्योंकि इसका आयोजन चुनौतीपूर्ण डीएलएफ गोल्फ एंड कंट्री क्लब पर होता है। इस कोर्स पर खिलाड़ियों को मानसिक रूप से काफी मजबूत होना होता है क्योंकि यह एसा कोर्स है जहां कभी भी कुछ भी बड़ा हो सकता है। इस कोर्स के फाइनल स्ट्रेच को पेशेवर गोल्फरों के लिए भी चुनौतीपूर्ण माना जाता है लेकिन मुझे पूरा यकीन है कि यूरोपीयन टूर में लगातार हिस्सा लेते आ रहे हमारे कई खिलाड़ी अब इस कोर्स की चुनौतियों का आसानी से सामना कर लेंगे। साथ ही हमें यकीन है कि अपने घरेलू कोर्स के बारे में अधिक जानकारी का फायदा उठाकर भारतीय खिलाड़ी भी अपनी चमक बिखेरेंगे।”

भारतीय गोल्फ खिलाड़ियों ने एशियाई टूर पर खुद को एक मजबूत दावेदार के रूप में पेश किया है और लगातार विजेता के रूप में भी उभरे हैं। साल 2019 में भारतीय खिलाड़ी हालांकि एक भी टूर्नामेंट नहीं जीत पाए लेकिन वे कई मौकों पर शीर्ष-3 में रहे हैं।

इस साल थाईलैंड भी काफी मजबूत और युवा खिलाड़ियों को हीरो इंडियन ओपन के लिए भेज रहा है। इनमें कई एशियन टूर विजेता शामिल हैं। थाई खिलाड़ियों की इंट्री अभी भी आ रही है और इनके नामों की घोषणा जल्द ही की जाएगी।

डीएलएफ गोल्फ एंड कंट्री क्लब अब महिला एवं पुरुष इंडियन ओपन्स का घर बन चुका है। कोर्स कंडीशन, ले आउट और यहां तक की डीएलएफ का माहौल इसे गोल्फरों के बीच काफी पसंदीदा बनाता है। गैरी प्लेअर्स ब्लैक नाइट कोर्स का चुनौतीपूर्ण ले आउट इसकी सुंदरता और चुनौती में इजाफा करता है और यही कारण है कि यहां शीर्ष गोल्फर अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करने को प्रेरित होते हैं।

भारतीय गोल्फरों ने 2015 से 2017 के बीच लगातार तीन बार इंडियन ओपन खिताब जीता। इनमें से दो बार चौरसिया ने बाजी मारी। चौरसिया चार बार इस इवेंट में रनरअप भी रह चुके हैं। बीते दो संस्करणों से दो विदेशी खिलाड़ियों ने यहां खिताबी जीत दर्ज की है। 2018 में इंग्लैंड के मैट वालेस ने खिताब जीता तो 2019 में गालाचेर यह एतिहासिक ट्राफी जीतने वाले पहले स्काटिश गोल्फर बने थे।

साल 2020 ओलंपिक का साल है। एसे में उम्मीद है कि दो इंडियन ग्रेड हासिल कर सकेंगे। इन दो स्थानों के लिए प्रतिस्पर्धा काफी तेज है और दावेदारों की सूची काफी लम्बी है। अभी राशिद, उदयन और शुभांकर शीर्ष -3 में शामिल हैं लेकिन ग्रेड किसी को भी मिल सकता है।