• Home »
  • New Delhi »
  • कल अष्टमी पर कन्या पूजन का शुभ मुहूर्त और महत्व

कल अष्टमी पर कन्या पूजन का शुभ मुहूर्त और महत्व

नवरात्रि का पावन पर्व चल रहे हैं और हर दिन का अपना-अपना खास स्थान है। 29 सितंबर से शारदीय नवरात्रि आरंभ हुए हैं। मां दुर्गा के 9 रुपों की पूजा विधिवत रुप से कर हर संकट से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं। बता दें सभी दिनों की तरह अष्टमी का भी अपना खास स्थान हैं। अष्टमी तिथि पर नौ कन्‍याओं के पूजन का विधान है।  कल 6 अक्‍टूबर को अष्‍टमी का पर्व मनाया जाएगा। आज हम आपको अष्टमी पर कन्या पूजन का शुभ मुहूर्त बताएंगे-

अष्टमी का शुभ मुहूर्त-
अष्‍टमी प्रारंभ तिथि- 5 अक्‍टूबर की सुबह 9 बजकर 51 मिनट
समापन तिथि- 6 अक्‍टूबर की सुबह 10 बजकर 54 मिनट
रविवार की सुबह कन्या पूजा करना शुभ रहेग

अष्‍टमी को मां दुर्गा के आठवें रूप महागौरी की पूजा का विधान है। कंजक पूजन और लोंगड़ा पूजन के उपरांत नवरत्रि की पूजा का समापन हो जाता है। नौ दिन तक उपवास रखकर मां दुर्गा का पूजन करने वाले भक्त अष्टमी अथवा नवमी को अपने व्रत का समापन करते हैं।