• Home »
  • New Delhi »
  • गौरवशाली होगा ये स्वतंत्रता दिवस, कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक लहराएगा तिरंगा

गौरवशाली होगा ये स्वतंत्रता दिवस, कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक लहराएगा तिरंगा

नई दिल्ली: 15 अगस्त 1947 को भारत अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ। ये आजादी इतनी आसानी से नहीं मिली, इसके लिए अनेक स्वतंत्रता सेनानियों ने कुर्बानियां दी हैं। आज से 2 दिन बाद यानि 15 अगस्त 2019 को देश को आजाद हुए 73 साल हो जाएंगे। हर साल हमेशा की तरह ही इस साल भी दिल्ली में प्रधानमंत्री द्वारा लाल किले पर तिरंगा फहराकर भाषण दिया जाएगा, लेकिन इस बार का फहराया गया तिरंगा और मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिया गया भाषण, बाकि वर्षों के मुताबिक और भी ज्यादा गौरवशाली होगा।

इसका कारण मोदी सरकार द्वारा धारा 370 से जम्मू कश्मिर को आजाद करवाना होगा। हालांकि जम्मू-कश्मीर शुरु से ही भारत का अभिन्न अंग रहा है, लेकिन धारा 370 के कारण कश्मीर को कभी भी वो अधिकार नहीं मिल पाए जिसका लाभ अन्य राज्यों को मिला। घाटी में आतंकवाद बढ़ता ही गया और वहां के लोग आतंक के साए में जीने को मजबूर हुए। धारा 370 के कारण न तो वहां कारोबार विकसित हो सका, जिस कारण बेरोजगारी के कारण युवाओं में रोष पैदा हुआ। घाटी में न जाने कितने जवान शहीद हुए, कितने लोग आतंक का शिकार हुए।

कहने को तो कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत वर्ष एक था, लेकिन जम्मू कश्मीर में अलग झंडा और पूरे देश में अलग झंडा। आतंक पर नकेल कसने, रोजगार और जम्मू कश्मीर के विकास के लिए मोदी सरकार ने धारा 370 हटाकर इस बार पूरे देश में एक देश एक झंडे का संदेश दिया। इस बार का लाल किले पर फहराया झंडा और पीएम मोदी के भाषण की गूंज लाल चौक नहीं बल्कि पूरे कश्मीर में गूंजेगी।