• Home »
  • Uncategorized »
  • लद्दाख गतिरोध पर संसद में बोले Rajnath Singh- हमारी सेना भी तैयार

लद्दाख गतिरोध पर संसद में बोले Rajnath Singh- हमारी सेना भी तैयार

नई दिल्ली, 15 सितम्बर (news9express)

लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अप्रैल महीने से जारी भारत-चीन के बीच गतिरोध पर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को लोकसभा में राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारे जवानों के हौसले पूरी तरह से बुलंद हैं और हम किसी भी हालात से निपटने के लिए तैयार हैं। रक्षा मंत्री ने बताया कि चीन ने सीमा पर गोला-बारूद इकट्ठा कर लिया है, लेकिन हमारी सेना भी तैयार है। हमारे जवान देशवासियों को सुरक्षित रख रहे हैं।
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि किसी को भी हमारे सीमा की सुरक्षा के प्रति हमारे दृढ़ निश्चय के बारे में संदेह नहीं होना चाहिए। भारत मानता है कि पड़ोसियों के साथ शांतिपूर्ण संबंधों के लिए आपसी सम्मान और आपसी संवेदनशीलता जरूरी है।
उन्होंने कहा, ‘अप्रैल महीने से ईस्टर्न लद्दाख की सीमा पर चीन की सेनाओं की संख्या तथा उनके गोला-बारूद में वृद्धि देखी गई है। मई महीने की शुरुआत में चीन ने गलवान घाटी क्षेत्र में हमारी सेना की पैट्रोलिंग में व्यवधान शुरू किया, जिसके कारण दोनों पक्षों के आमने-सामने आने की स्थिति उत्पन्न हुई।’ उन्होंने कहा कि मई महीने में गलवान घाटी में आमना-सामना हुआ। चीन द्वारा मई महीने के मध्य में पश्चिमी लद्दाख के कई क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश की थी। हमने चीन से कूटनीतिक और सैन्य बातचीत के जरिए से साफ करा दिया कि यह एकतरफा सीमा को बदलने की कोशिश है और हमें यह मंजूर नहीं है।
[5:17 AM, 9/15/2020] +91 80902 86622: ANS NEWS- लोक सभा में राजनाथ के बयान के बाद पीएम पर राहुल गांधी ने साधा निशाना, बोले- चीन का नाम लेने से मत डरो
नई दिल्ली, 15 सितम्बर एएनएस। लद्दाख में भारत-चीन के बीच जारी सीमा गतिरोध पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के लोकसभा में दिए बयान के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने पीएम मोदी से कहा कि चीन का नाम लेने से नहीं डरें। इसके अलावा आरोप लगाया कि पीएम ने देश को चीन के मुद्दे पर गुमराह किया।
राजनाथ सिंह के लोकसभा में दिए बयान के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘रक्षा मंत्री के बयान से साफ है कि मोदीजी ने देश को चीनी अतिक्रमण पर गुमराह किया। हमारा देश हमेशा से भारतीय सेना के साथ खड़ा था, है और रहेगा।’ राहुल ने आगे पूछा, ‘लेकिन मोदी जी, आप कब चीन के खिलाफ खड़े होंगे? चीन से हमारे देश की जमीन कब वापस लेंगे? चीन का नाम लेने से डरो मत।’

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में कहा था कि भारत शांतिपूर्ण तरीके से सीमा मुद्दे के हल के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन पड़ोसी देश द्वारा यथास्थिति में एकतरफा ढंग से बदलाव का कोई भी प्रयास अस्वीकार्य होगा। उन्होंने कहा कि हम पूर्वी लद्दाख में चुनौती का सामना कर रहे हैं, हम मुद्दे का शांतिपूर्ण ढंग से हल करना चाहते हैं और हमारे सशस्त्र बल देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए डटकर खड़े हैं।