• Home »
  • New Delhi »
  • #MenToo : अब मर्द उठाएंगे महिलाओं के हाथों अपने यौन शोषण पर आवाज

#MenToo : अब मर्द उठाएंगे महिलाओं के हाथों अपने यौन शोषण पर आवाज

MENTOO MAN

नई दिल्ली : नाना पाटेकर और तनुश्री दत्ता मामले के तूल पकड़ने के बाद कई महिलाएं खुलकर सामने आईं और अपने साथ हुई ज्यादती बयां की। इन आरोपों के चलते कई बड़े फिल्म डायरेक्टर सहित राजनेताओं को भी अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ी। इस अभियान का असर इस कदर देखने को मिला की महिलाओं के खिलाफ यौन उत्पीड़न को लेकर नए कानून की मांग उठने लगी। अब #MeToo की तर्ज पर मर्दों के लिए मैन टू आंदोलन की शुरुआत की गई है।

इसके तहत पुरुषों को महिलाओं के हाथों अपने यौन शोषण के बारे में खुलकर बोलने के लिए कहा गया है। 15 लोगों के इस समूह में फ्रांस के एक पूर्व राजनयिक भी शामिल हैं जिन्हें 2017 में यौन उत्पीड़न के एक मामले में अदालत ने बरी कर दिया था। मैन टू आंदोलन की शुरुआत गैर सरकारी संगठन चिल्ड्रंस राइट्स इनिशिएटिव फॉर शेयर्ड पेरेंटिंग (क्रिस्प) ने की है। क्रिस्प के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुमार वी ने कहा कि समूह लैंगिक तटस्थ कानूनों के लिए लड़ेगा।

उन्होंने मांग की कि मी टू अभियान के तहत झूठे मामले दायर करने वालों को सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मी टू में जहां पीड़ित महिलाएं सालों पहले हुए यौन उत्पीड़न की बात बता रही हैं, वहीं इसके विपरीत मैन टू आंदोलन में हालिया घटनाओं को उठाया जाएगा। मी टू आंदोलन के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि यदि यौन उत्पीड़न का मामला सच्चा है तो पीड़िताओं को सोशल मीडिया पर आने की जगह कानूनी कार्रवाई का सहारा लेना चाहिए।

40 total views, 2 views today