• Home »
  • BUSINESS »
  • शिरडी के साईं बाबा मंदिर रविवार से अनिश्‍चित काल के लिए बंद

शिरडी के साईं बाबा मंदिर रविवार से अनिश्‍चित काल के लिए बंद

शिरडी:शिरडी के साईं बाबा की जो भी मन से पूजा करता है वह उसकी झोली भर देते हैं । आज के दौर में साईं बाबा की बड़ी संख्या में भक्तों है साईं बाबा की पूजा हर कोई करता है चाहे वह किसी भी जाति या धर्म का क्यों ना हो साईं बाबा सबकी मनोकामना पूरी करते है।अगर आप साईं बाबा के भक्त हैं और शिरडी जाने के लिए सोच रहे हैं तो आपके लिए बुरी खबर है यह वह खबर है जो साईं भक्तों को थोड़ा परेशान कर सकती है। हिंदू मुस्लिम की आस्था का प्रतीक साईं मंदिर अनिश्चित काल के लिए बंद होने जा रहा है।

बता दें कीशिरडी का विश्व प्रसिद्ध साईं मंदिर रविवार से बंद होने वाला है। लेकिन आप घबराएं नहीं अनिश्चित काल तक बंद किए जाने का मतलब है कि शिर्डी में अपना खाना मिलेगा और ना ही पानी मिलेगा और ना ही रहने की जगह मिलेगीलेकिन शिरडी में साईं बाबा के दर्शन कर सकते हैं। बता दे कि महाराष्ट्र उधव ठाकरे मुख्यमंत्री बनने के बाद महाराष्ट्र सरकार के पात्री गांव में तीर्थ स्थल विकास करने के फैसले पर विवाद पैदा हो गया है। यह विवाद उधव ठाकरे की घोषणा के बाद शुरू हुआ है उद्धव ठाकरे ने पाथरी गांव के विकास के लिए 100 करोड़ रुपए मंजूर करने की घोषणा की है। मानना है कि पाथरी गांव को साईं बाबा का जन्म स्थान ही माना जाता हैं। और देश-विदेश से पर्यटक पाथरी पहुंचते भी है, लेकिन यहां ढांचा नहीं। लेकिन शिरडी ट्रस्ट के लोग पाथरी को साईं बाबा का जन्म स्थान नहीं मानते।

शिरडी के निवासी को डर है कि यदि पात्री मशहूर हो गया तो उनके कस्बे में श्रद्धालुओं का आना कम हो जाएगा। इस विवाद पर शिवसेना के मंत्री अब्दुल सत्तार ने मीडिया से बताया की साईं बाबा के जन्म स्थान पाथरी को सरकार की तरफ से जो फंड देने की बात हुई थी उस पर बकायदा मीटिंग हुई है। इसी के आधार पर उस गांव के विकास के लिए सरकार की तरफ से सहायता की जा रही है।सट्टा ने कहा कि यह विभाग पुराना है पाथरी के विकास में शिर्डी के साईं बाबा के मंदिर पर कोई असर नहीं पड़ने वाला। शिरडी के मंदिर को बंद रखना शिर्डी के लोगों का सही निर्णय नहीं है शिर्डी के लोगों का यह कहना है कि साईं बाबा का जन्म पार्टी में नहीं बल्कि शिरडी में हुआ है लेकिन सत्तार पाथरी के साईं बाबा के जन्म के सबूतों की बात कर रहे हैं। फिलहाल जो भी हो अब साईं ट्रस्ट ने मंदिर को अनिश्चितकालीन बंद करने का ऐलान कर दिया हैं। अब देखना यह होगा की साईं ट्रस्ट मंदिर को कितने दिन तक बंद रखता है। हालांकि इस श्रद्धा का विषय है इसमें राजनीति नहीं होनी चाहिए।