• Home »
  • New Delhi »
  • सिसोदिया द्वारा बताये जाने वाले वल्र्ड क्लास के स्कूल में छात्र के सिर पर गिरा पंखा, छात्र घायल

सिसोदिया द्वारा बताये जाने वाले वल्र्ड क्लास के स्कूल में छात्र के सिर पर गिरा पंखा, छात्र घायल

KAMAL KISHORE
नई दिल्ली, 10 जुलाई। भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने आज प्रदेश कार्यालय पर आम आदमी पार्टी द्वारा शिक्षा में किये जाने वाले भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करने को लेकर और एमसीडी के साथ शिक्षा के बजट में भेदभाव करने पर एक प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता में मीडिया प्रभारी श्री प्रत्युष कंठ, सह-प्रभारी श्री नीलकांत बक्शी, प्रदेश प्रवक्ता श्री हरीश खुराना, श्री राज कुमार भाटिया, मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल देवराहा एवं युवा मोर्चा प्रभारी श्री मनोज त्यागी उपस्थित थे।
पत्रकारों को सम्बोधित करते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली की सत्ता में बैठी आम आदमी पार्टी की सरकार घोटालों की सरकार बन चुकी है। लगातार हमने कई बार प्रेस के माध्यम से केजरीवाल सरकार में होने वाले भ्रष्टाचार को दिल्ली की जनता के सामने रखा है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने जिन कमरों को किसी बिल्डर की तरह मीडिया कर्मीयों को दिखाकर 5 लाख में तैयार होने वाले कमरों के लिए 25 लाख का खर्चा न्यायोचित बताते हुये गुस्से में कहा कि भ्रष्टाचार हुआ तो मुझे जेल में क्यों नहीं डाल दिया गया। आज दिल्ली के उन्हीं वल्र्ड क्लास बताये जाने वाले त्रिलोकपुरी के सरकारी स्कूल में एक पंखा गिरने से मासूम छात्र का सिर फट गया। जीटीबी अस्पताल में वो जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रहा है, उसकी इस हालत की जिम्मेदार केजरीवाल सरकार है जिन्होंने इतने बड़े स्तर पर घोटाला किया कि आज पंखा गिरा है कल कुछ और भी गिर सकता है लेकिन जिन कमरों में छात्र पढ़ रहे उनकी सुरक्षा को लेकर दिल्ली सरकार गम्भीर नहीं है।
श्री तिवारी ने कहा कि यह बात दिल्ली से निकल कर पूरे देश में जा चुकी है कि केजरीवाल सरकार पांच पच्चीस की सरकार बन चुकी है। आम आदमी पार्टी के भ्रष्टाचार और झूठ का प्रत्यक्ष प्रमाण मासूम छात्र है जिसका सिर फट गया है। शिक्षा मंत्री मनीष सिसौदिया को इस घटना को लेकर दिल्ली की जनता से माफी मांगनी चाहिए। केजरीवाल सरकार का अमानवीय चेहरा दिल्ली के लोगों के सामने आ चुका है। कुछ समय पहले आम आदमी पार्टी के नेताओं ने एमसीडी स्कूल में जमीन पर पढ़ रहे छात्रों की फोटो सोशल मीडिया पर डाली थी जो छात्रों के प्रति उनकी हीन भावना दर्शाती है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने 53 हजार करोड़ रूपये के अपने बजट में 12460 करोड़ रूपये शिक्षा के लिए आंबटित किये जो कि कुल बजट का 23.51 प्रतिशत होता है। दिल्ली सरकार के लगभग 1033 स्कूल हैं, जबकि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के कुल 743 स्कूल है जिनके लिए दिल्ली सरकार ने बजट के रूप में केवल 1.46 प्रतिशत आबंटित किया। मैं दिल्ली के मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं कि यह कौन सी शिक्षा व्यवस्था है क्या जो बच्चे एमसीडी के स्कूलों में पढ़ रहे है वो दिल्ली के नहीं है। एमसीडी में पढ़ने वाले बच्चों की फोटो शेयर करना आपकी हीन मानसिकता का प्रतीक है।
श्री तिवारी ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने वर्ष 2016-17 में 3500 करोड़ रूपये शिक्षा बजट के लिए आंबटित किये जिसे बाद में 3104 करोड़ रूपये कर दिया गया जो कि लगभग 400 करोड़ रूपये कम होता है और लगभग आधा 2666 करोड़ रूपये खर्च किये, बाकी लैप्स हो गया लेकिन एमसीडी के लिए फंड आबंटित नहीं किया गया। इसी प्रकार वर्ष 2017-18 में 2127 करोड़ रूपये आबंटित किये, जिसे 1965 करोड़ रूपये कर रिवाईज किया गया, खर्च 1677 करोड़ रूपये किये गये, बाकी लैप्स हो गया लेकिन एमसीडी को फंड नहीं दिया गया। चुनावी वर्ष आते ही शिक्षा का बजट 4696 करोड़ रूपये आबंटित किये जिसमें से इस्तेमाल में केवल 1803 करोड़ रूपये लाया गया बाकी लैप्स, लेकिन फिर एक बार भेदभाव करते हुये केजरीवाल सरकार ने एमसीडी स्कूलों के लिए फंड नहीं दिया। हम पूरी दुनिया को एक परिवार मानते है लेकिन केजरीवाल भेदभाव की राजनीति कर रहे है। निगम में भाजपा है इसलिए वो जानबूझ कर फंड को रोकते हैं।
श्री तिवारी ने कहा कि केजरीवाल सरकार मौखिक रूप से प्रोजेक्ट की राशि को बढ़ा कर भ्रष्टाचार कर रही है। संविधान में प्रोजेक्ट मौखिक रूप से बढ़ाने की सीमा 10 प्रतिशत से अधिक नहीं है, लेकिन आम आदमी पार्टी की सरकार प्रोजेक्ट को 100 प्रतिशत बढ़ाकर अपने लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए घोटालों को अंजाम दे रही है। राजनीति में कुछ अलग करने की नीयत से आये केजरीवाल आज भ्रष्टाचार में पूरी तरह से संलिप्त हो चुके है। दिल्ली सरकार के जोन-23 के प्रोजेक्ट जिसमें 27.77 करोड़ रूपये आंबटित किये गये है जिसे मौखिक रूप से 54 करोड़ रूपये कर दिया गया है। यह पूरा प्रकरण एक बहुत बड़े घोटाले की ओर इशारा करता है जिसका पर्दाफाश दिल्ली भाजपा जनता के सामने कर रही है।