• Home »
  • Crime »
  • छात्र गैंग का पर्दाफाश, अश्लील वीडियो बनाकर लड़कियों से वसूलते थे मोटी रकम

छात्र गैंग का पर्दाफाश, अश्लील वीडियो बनाकर लड़कियों से वसूलते थे मोटी रकम

रायपुरः ब्लैकमेल के कई मामलाें के बारे में आपने पढ़ ही हाेगा, लेकिन आज हम आपकाे एक ऐसे मामले के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप हैरान हाे जाएंगा। दरअसल, छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पुलिस ने एक गैंग पकड़ा है, जो लड़कियों को ब्लैकमेल कर उनसे लाखों रुपए वसूलता था। इस गैंग के अधिकतर सदस्य खुद छात्र हैं। जानकारी के लिए आपकाे बता दें, ये मामला तब सामने आया, जब इस गैंग ने एक बड़े कारोबारी की बेटी पर हाथ डाला, तब जाकर ये मामला पुलिस के सामने आया। पुलिस ने इस मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया हैं। गैंग के सरगना की पहचान आदर्श अग्रवाल के रूप में हुई है।

पुलिस के मुताबिक रायपुर के आनंद नगर में रहने वाले एक बड़े कारोबारी की 15 वर्षीय बेटी 10वीं की छात्रा है। करीब सालभर पहले फेसबुक पर उसकी दोस्ती एक 17 वर्षीय किशोर से हुई। पहले दोनों फेसबुक पर बातें करते रहे, फिर दोनों की मुलाकातें हाेने लगीं। छात्र ने एक दिन लड़की को अपने दोस्त आदर्श अग्रवाल और सोहराब से मिलवाया। इस दौरान आदर्श ने लड़की से दोस्ती कर ली। उसके कुछ दिन बाद आदर्श ने लड़की को बताया कि उन दोनों की दोस्ती कराने वाला उनका दोस्त कैंसर की बीमारी से जूझ रहा है। उसके इलाज के लिए करीब 5 लाख रूपये की जरूरत है, लेकिन उसके पास पैसा नहीं है।
लड़की पैसे देने के लिए राजी हाे गई और उसने अपनी मां के अकाउंट से करीब 4 लाख रुपए निकालकर आदर्श को दे दिए और उसके दोस्त का इलाज कराने के लिए कहा, लेकिन कुछ महीने बाद उसकी सचाई सामने आ गई। इसके बाद दोनों लड़कों ने फिर से छात्रा को फिर से झांसे में ले लिया और एक दिन आदर्श छात्रा को अपने दोस्त के घर ले गया और वहां उसकी अश्लील वीडियो बना ली। कुछ दिन बाद उसने छात्रा को वीडियो वॉट्सएप पर भेजा। उसके बाद उन्हाेंने उसे ब्लैकमेल करने लगे। मजबूर होकर छात्रा ने उन दोनों को रकम दे दी। इसके बाद कुछ दिन लड़के शांत रहे लेकिन 31 दिसंबर की पार्टी के लिए दोनों फिर लड़की से पैसा मांगने लगे। पैसे न मिलने पर उसे वीडियो वायरल करने के लिए कहने लगे।

उसके बाद पीड़ित छात्रा पैसे देने के लिए फिर से राजी हाे गई, लेकिन वह अपने घर नहीं पहुंची। देर रात में लड़की के घरवाले तेलीबांधा थाने पहुंचे और उसके अपहरण का मामला दर्ज कराया। लेकिन 30 दिसंबर की रात को अचानक छात्रा अपने घर आ गई। इसके बाद पीड़ित छात्रा ने पुलिस को सारी बात बताई कि आरोपियों ने उससे 9 लाख रुपए लेने के साथ-साथ उसकी मां की जेवर भी ले लिए थे। छात्रा के बयान दर्ज हो जाने के बाद अगले दिन पुलिस ने इस संबंध में बलात्कार, आईटी एक्ट और पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कर लिया हैं।