• Home »
  • Crime »
  • अस्पताल में सामूहिक दुष्कर्म मामले में नया मोड़, 4 डॉक्टरों समेत 6 कर्मचारी हिरासत में लिए गए

अस्पताल में सामूहिक दुष्कर्म मामले में नया मोड़, 4 डॉक्टरों समेत 6 कर्मचारी हिरासत में लिए गए

बरेली के मेधांश अस्पताल के आइसीयू में भर्ती किशोरी के साथ दुष्कर्म मामले में पुलिस चार डॉक्टरों और छह कर्मचारियों को हिरासत में लिया है। जिसके बाद इन सभी से पुलिस ने पांच घंटों तक पूछताछ की। वहीं किशोरी का मेडिकल करने वाले डॉक्टरों ने साफ किया कि उसके शरीर पर किसी प्रकार की चोट नहीं है। जिसके बाद अब दुष्कर्म की पुष्टि के लिए किशोरी का अल्ट्रासाउंड कराने के लिए कहा गया है।

वहीं पुलिस इस मामले में अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे खराब होने को गंभीर खामी मानते हुए और सबूत जुटाने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने जांच में पाया कि वारदात वाली रात निजी अस्पताल की आइसीयू में आठ महिला मरीज भर्ती हुई थीं। इनमें से तीन महिला मरीज मिल गई। पूरे आइसीयू की एक-एक जगह छानबीन के बाद इन तीनों महिला मरीजों के बयान भी लिए गए। फिलहाल तीनों ने ऐसी घटना से अनभिज्ञता जताई है। वहीं बेटी को छोड़कर पिता गांव चला गया था।

rape doctor up crime

जानकारी के लिए बता दें किशोरी के पिता का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने बेड पर लगे सीसीटीवी कैमरे खराब करा दिए और मुझे नीचे की मंजिल पर बैठाया गया। जबकि उनकी बेटी के कपड़े हटाए जाने की उनको कोई जानकारी नहीं दी गई। उसके जनरल वार्ड में आने के बाद हमें दरिंदगी के बारे में पता चला। अस्पताल वाले कुछ भी करा सकते है।

तो वहीं दूसरी ओर अस्पताल के डॉक्टर हिमांशु ने कहा कि किशोरी ने घटना के बाद एक आरोपी का होना बताया। कुछ घंटे बाद कंपाउंडर सुनील शर्मा समेत तीन पर आरोप लगाए। एफआईआर दर्ज होने के बाद किशोरी ने पांच लोगों का होना बताया है जबकि किशोरी वेंटिलेटर पर बेहोशी की हालत में थी। हम पुलिस का सहयोग कर रहे हैं। जांच में हकीकत सामने आएगी।